Richard Feynman

Richard Phillips Feynman (1918-1988)

Happy Birthday to Richard P. Feynman. (आर.पी. फाइनमेन)

अनोखा व्यक्तित्व, हँसमुख स्वभाव,अद्भुत मस्तिष्क के धनी, गणनाओं के महारथी, प्रखर आधुनिक भौतिक विज्ञानी R.P. Feynman.

प्रारंभिक जीवन (Early life)

जन्म

11 May 1918 (Queens, New York, USA)

शिक्षा (Education)-
Feynman प्रखर मस्तिष्क के धनी थे। उच्च तार्किक क्षमता के बल पर विद्यालयी समय में ही उन्होंने Advanced Algebra , Trigonometry को आत्मसात कर लिया।
B.Sc. - 1939 (MIT)
M.Sc. - 1942 ( Princeton University )

कार्य और उपलब्धियाँ ( work and achievements)
Research Assistant - Princeton University (1940-41)
Professor in Theoretical Physics - Cornell University ( 1945 - 1950)
Professor in Theoretical Physics - California Institite of Technology ( 1950 - 1959)

गणित में कार्य करते करते इन्हें लगा की गणित अमूर्त (Abstract) है तब इन्होंने विद्युत अभियांत्रिकी (Electrical Engineering) को अपना कार्य क्षेत्र चुना और भौतिकी में इनकी रुचि जागृत हुई । इसके बाद ये एक सैद्धांतिक भौतिक विज्ञानी बनकर उभरे। ये Bongo बजाने के भी शौकीन थे।

इनको पढ़ाना बहुत पसंद था । इनका मानना था कि यदि आपको किसी विषय पर महारथ हासिल करनी है तो आपको इसे पढ़ाना प्रारम्भ कर देना चाहिए। किसी भी कठिन से कठिन सिद्धांत को आसान शब्दों में व्याख्या(Explain) करने की क्षमता अद्वितीय थी इनमें। इनकी पुस्तक Feynman Lecture of Physics भी भौतिक विज्ञान की प्रारंभिक समझ विकसित करने के लिए अद्वितीय  (Unique) पुस्तक है। Feynman एक अच्छे आर्टिस्ट भी थे। उन्होंने विद्यार्थियों के लिए किसी भी Concept को आसानी से समझने और याद रखने का एक अनोखा तरीका सुझाया जिसे Feynman Technique के नाम से जाना जाता है। इसमें रेखाचित्रों (sketch) के माध्यम से किसी भी विषयवस्तु को याद रखा जा सकता है। क्वांटम भौतिकी (Quantum Physics)और आण्विक भौतिकी(Particle Physics) में कणों के मध्य होने वाली अंतः क्रिया को समझाने के लिए Feynman Diagram दिए जो आज भी प्रासंगिक हैं। इस कार्य के लिए इन्हें 1965 में नोबल पुरस्कार मिला।

पुरस्कार(Prizes)

1. Nobel Prize (1965, In 1/3)
2.Albert Einstein Award (1954, Princeton Uni.)
3. Einstein Award (1962, Albert Einstien institute of advanced Medicine)
4. Lawrence Award (1962)

Nobel Winning Work

क्वांटम भौतिकी और विद्युतगतिकी के स्थापित होने के पश्चात मूल कणों के मध्य की अंतःक्रिया को समझने हेतु Feynman Diagrams दिए। Feynman diagram अवपरमाणुक(Subatomic Particles) कणों के मध्य अन्तः क्रिया के गणितीय रूप को रेखाचित्रों के रूप में प्रदर्शित करने में सहायक होते हैं|

In this Feynman diagram, an electron (e⁻) and a positron (e⁺annihilate, producing a photon (γ, represented by the blue sine wave) that becomes a quarkantiquark pair (quark q, antiquark ), after which the antiquark radiates a gluon (g, represented by the green helix).

Nobel lecture theme-
About the development of the space-time view of Quantum Electrodynamics ( The theory of interaction between Light and Matter)

The Manhattan project-
द्वितीय विश्व युद्ध के समय अमेरिका का बम विकास कार्यक्रम( Bomb Developement Programme) में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। Feynman गणितीय गणना करने में बहुत तेज़ थे इसलिए इन्हें  इस प्रोजेक्ट में विशेष जिम्मेरदारी दी गयी।

QUOTES OF FEYNMAN

इस महान वैज्ञानिक का जीवन यूँ तो बहुत समस्याओं से ग्रस्त रहा परंतु ये हमेशा हंसते मुस्कुराते भौतिक विज्ञान में नए आयाम स्थापित करके इस जिंदगी से 15 February 1988 को विदा ले गए।

इनका नोबेल व्याख्यान पढ़ने हेतु आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करिए।

MORE ABOUT NOBEL LECTURE

ThePhysicist की तरफ से आपका अपना Mohit Tiwari.

For any requests, suggestions, and complaints, please use the comments section below or use the contact page.

2 Comments on “Richard Feynman

  1. Good to know that in this world of theory and formula, there are still some guys who have all the idea about their origin and want to share with us. 🖤

    Amazing work, keep it up guys 🙂

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

s2Member®